DESI PATRIKA

HINDI NEWS WEBSITE

श्रीराम मंदिर के भूमिपूजन पर देश में दिखेगा दिवाली-सा नजारा, हिंदू जागरण मंच ने हर घर में घी के पांच दीये जलाने की अपील की ।।

Spread the love

अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए 5 अगस्त को भूमिपूजन की तैयारी शुरू हो गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भूमिपूजन करेंगे।

कोरोना संक्रमण का खतरा और लॉकडाउन के कारण इस ऐतिहासिक क्षण का गवाह बनने की देश के लाखों-करोड़ों लोगों की तमन्ना पूरी नहीं होगी। ऐसे में हिंदू जागरण मंच ने इस क्षण को यादगार बनाने के लिए कुछ अलग हट कर करने का निर्णय लिया है।

मंच के बिहार-झारखंड के क्षेत्रीय संगठन मंत्री डॉ. सुमन कुमार ने देशवासियों से 5 अगस्त को भूमिपूजन के माैके पर अपने-अपने घरों में घी के पांच-पांच दीये जलाने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि सैकड़ों वर्षों से हिंदू जनमानस का जो सपना था वह पूरा होने जा रहा है। डॉ. सुमन ने जारी प्रेस बयान में कहा है कि हजारों वर्षों के तप और तपस्या के साथ लाखों वीरों के बलिदान के बाद 05 अगस्त 2020 को फिर से भारत के स्वर्णिम भविष्य का लोकार्पण श्रीराम जन्म-भूमि पर श्री रामचंद्रजी के भव्य-दिव्य मंदिर का शिलान्यास होने के साथ होने जा रहा है। श्रीराम भारत की आत्मा हैं। श्री राम और श्री कृष्ण के बिना भारत का कल्पना भी संभव नहीं है। परंतु श्रीराम के भव्य मंदिर को विदेशी लुटेरों के द्वारा षडयंत्र पूर्वक खंडित करके वहां पर लगभग 1500 ई० के आसपास अरबी पहचान स्थापित की गई। इस खंडित मंदिर को पूर्ण करने और भारतीय स्वाभिमान को बचाए रखने के लिए हिंदुओं ने लड़ाइयां लड़ी। कितने पीढ़ियों ने अपने सर्वस्व-समर्पण के साथ श्रीराम के भव्य मंदिर निर्माण के लिए अपने प्राणों तक की आहुति दी है। इसके परिणाम स्वरूप फिर से श्रीराम जन्म भूमि पर श्रीराम मंदिर निर्माण का ऐतिहासिक क्षण हमारे सामने आ रहा है।डॉ. सुमन ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या जाने का विरोध करने वालों को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने कहा है कि आज जो भी लोग भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अयोध्या जाने का विरोध कर रहे हैं, सभी कांग्रेसी मानसिकता  के गुलाम हैं। उन्होंने देश के सभी हिंदुओं से इस ऐतिहासिक क्षण पर अपने-अपने घरों में घी के दीये जलाकर हिंदू धर्म को नई पहचान और शक्ति प्रदान करने की अपील की 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *